मासूम से हैवानियत दिखाने वाले को सबक सिखाने जुटी भीड़.. अस्पताल व कोर्ट से भीड़ से बचाकर भेजा जेल..

मासूम से दुष्कर्म के आरोपी को फांसी दो के नारे बुलंद

दमोह। दमोह को शर्मसार कर देने वाली वारदात को अंजाम देने वाले मासूम से दुष्कर्म के आरोपी को फांसी दो, फांसी दो के नारे के साथ भीड़ जूतम पैजार की तैयारी में घेराबंदी किये रही। परंतु पुलिस ने वक्त की नजाकत को समझते हुए आरोपी को पहले जिला अस्पताल से तथा बाद में जिला न्यायालय परिसर से भीड़ के आक्रोश का शिकार होने से बचाया तथा बाद में जेल पहुंचाया।

दमोह रेलवे स्टेशन के प्रतीक्षालय से करीब 2 साल की मासूम को सोते हुए अगवा करके ले जाने वाले आरोपी की पहचान सीसीटीवी फुटेज के जरिए करने के बाद कल पुलिस खुरई से इस आरोपी को अपनी गिरफ्त में लेकर दमोह आ गई थी। आज दोपहर नए पुलिस कंट्रोल रूम में एसपी विवेक अग्रवाल ने मीडिया के समक्ष बंडा थाना अंतर्गत निवासी श्याम अहिरवार को पेश किया। 

मासूम के साथ दरिंदगी दिखाने वाले इस आरोपी ने उसकी पायल तथा चूड़ी भी लूट कर बांदकपुर में बेच दी थी। पुलिस ने चूड़ी व पायल खरीदने वाले को भी गिरफ्त में ले कर माल बरामद कर लिया है। इधर आरोपी ने अपना गुनाह कबूल करते हुए स्वयं स्वीकार करना शुरू कर दिया है कि कोर्ट से उसे फांसी की सजा ही होगी। कबाड़ बीनने वाला यह आरोपी वारदात के बाद शराब के नशे में धुत होना बताया गया है।

शाम को जिला कोर्ट में आरोपी को पेश किए जाने के पूर्व मेडिकल हेतु जिला अस्पताल लाया गया। जिसकी खबर लगते ही बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ अस्पताल के बाहर एकत्रित हो गई। पुलिस लोगों को कंट्रोल करने का प्रयास कर रही थी कि कुछ महिलाएं चप्पल जूते हाथ में लेकर आरोपी की पिटाई करने तैयार हो गई। देखते ही देखते लोगों की भीड़ बढ़ जाने पर पुलिस ने एक जननी वाहन में छुपा कर आरोपी को जिला न्यायालय पहुंचाया।

जिसके बाद जिला न्यायालय परिसर में भी आक्रोशित लोगों का एकत्रित होना शुरू हो गया। देखते ही देखते यहां पर एकत्रित हो गई भीड़ में शामिल लोग फांसी दो, फांसी दो के नारे लगाने से नहीं चूके। बाद मैं कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आरोपी श्याम अहिरवार को पुलिस ने घेरा बनाकर सुरक्षित पुलिस वाहन तक पहुंचाया। यहां से जिला जेल ले जाया गया। इस दौरान जेल के बाहर भी लोग हाथ साफ करने की तलाश में खड़े रहे।

पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल ने बताया कि आरोपी श्याम अहिरवार सागर जिले के बंडा थाना अंतर्गत ग्राम का निवासी है। बीते चार पांच वर्षो से खानाबदोश की जिंदगी जी रहा है।  रेलवे स्टेशन उसके सोने का ठिकाना था और कबाड़ बीन कर अपना गुजारा करता था। नशा एवं विकृत मानसिकता के चलते उसने मासूम के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। पूछताछ के दौरान यह बात भी सामने आई है कि आरोपी ने बच्ची की पायल भी उतार ली थी जिसे बांदकपुर जाकर प्रदीप सोनी को यह कहकर बेच दिया था कि उसकी बच्ची को भूख लगी है, खाना के लिए पैसे नहीं है।

 श्री अग्रवाल ने बताया कि आरोपी की पहचान के बिना तलाश पाना बहुत मुश्किल लग रहा था। फिर भी पुलिस टीम जनता एवं मीडिया के सहयोग से वह आरोपी तक पहुंचने में सफल हुए। डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला ने 50,000 इनाम की घोषणा की है। इनाम की राशि आरोपी को पकड़ने वाली टीम एवं आरोपी की सूचना देने वालों को सम्मान स्वरूप दी जाएगी।

मासूम से हैवानियत दिखाने वाले आरोपी की गिरफ्तारी के बाद sp को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। वही कोतवाली टी आई उनकी टीम की भी प्रशंसा की जा रही है।  जबकि रेलवे पुलिस की भूमिका पर लोग सवाल उठाने से नहीं चूक रहे हैं। वारदात के बाद विभिन्न संगठनों ने ज्ञापन दिए तथा आरोपी की गिरफ्तारी के बाद फांसी दो की मांग के नारे बुलंद किए। उसे देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि विकृत मानसिकता का कोई भी व्यक्ति इस तरह की घटना को अंजाम देने के पहले 10 बार जरूर सोचेगा।

फिलहाल जबलपुर में इलाजरत मासूम जल्द स्वस्थ होकर अपने घर पहुंचे, उसके परिवार को भी जीवन यापन के लिए शासन तथा समाजसेवियों की ओर से आवश्यक धनराशि मिले,  फिर कोई हैवान इस तरह की हिम्मत ना करे। इसके लिए पुलिस तत्परता से कार्य करें। इन्हीं भावनाओं के साथ यह भी अवगत कराते है कि बुंदेलखंड के सर्वाधिक लोकप्रिय चर्चित न्यूज़ पोर्टल अटल News24 की साइड को कल हैक कर के  2409  न्यूज़ का डाटा किसी हैकर द्वारा डिलीट कर दिया गया। इस वजह से कल से आज तक साइड बंद रही। अब नए सिरे से साइड को अपडेट करने के बाद आप तक यह खबर पहुंचने में विलंब हुआ, इसके लिए क्षमाप्रार्थी हैं। आप सभी का स्नेही अटल राजेंद्र जैन