शनि अमावस्या पर भंडारा कराना पड़ेगा भारी

दमोह। 6 मई को होने वाले लोकसभा चुनाव मतदान की सभी प्रशासनिक तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। आज पिंक पोलिंग बूथ की महिला अधिकारियों का प्रशिक्षण पॉलीटेक्निक कॉलेज में सम्पन्न हुआ। इसके साथ ही अन्य मतदान अधिकारियों का अंतिम प्रशिक्षण भी सम्पन्न हुआ। यहां 4 कक्षों में 260 से अधिक मतदान दल के अधिकारी मौजूद रहे। इसमें पिंक बूथ, दिव्यांग एवं अतिरिक्त रिर्जव दल अधिकारियों का प्रशिक्षण दिया गया। इस दौरान महिला पोलिंग अधिकारियों का उत्साह और मनोबल देखने लायक रहा। प्रशिक्षण में मौजूद इन महिला एवं कर्मचारियों ने उत्साह से प्रश्न किये जिनका समाधान किया गया।

लोकसभा निर्वाचन 2019 के तहत जिले में पिंक पोलिंग बूथ 32 बनाये गये है, जिसमें दमोह में 15 पोलिंग बूथ शामिल है। इनमें 6 दिव्यांग बूथ बनाये गये हैं, जिसमें पोलिंग अधिकारी दिव्यांग होंगे। प्रशिक्षण में उप जिला निर्वाचन अधिकारी आनंद कोपरिहा, जनसम्पर्क अधिकारी के अलावा नोडल अधिकारी प्रशिक्षण नदीम हसन, डॉ आलोक सोनवलकर प्रशिक्षण कार्य में विजय मोहन मिश्रा, मोहन राय, राजेश सोनी, दिलीप जोशी, अखिलेश सोनी, देवेन्द्र बिल्थरे, एस.के.दुबे, संतोष खरे, प्रशांत खरे, श्याम तिवारी, तसलीम कुरैशी आदि मास्टर ट्रेनर्स की सक्रिय उपस्थित रही।

सामूहिक भोज-लंगर कराने पर होगी कार्रवाई-

दमोह। उप जिला निर्वाचन अधिकारी आनंद कोपरिहा ने मतदान के तीन दिवस पूर्व मैरिज गार्डन सामुदायिक भवनों आदि मे प्रायोजित निःशुल्क पार्टी सामूहिक भोज आदि पर निगरानी रखने के संबंध में सहायक रिटर्निंग आफीसर दमोह, पथरिया, जबेरा, हटा, बंडा, रहली, देवरी, बड़ामलहरा, प्रभारी अधिकारी उड़नदस्ता दल और प्रभारी अधिकारी वीडियों निगरानी दल के साथ ही पुलिस अधीक्षक दमोह को पत्र लिखकर कहा है कि निर्वाचन आयोग द्वारा निर्देश प्राप्त हुए है कि इस दौरान अभ्यर्थी या अन्य कोई व्यक्ति निर्वाचकों से मिलने के लिए सामूहिक भोज लंगर का आयोजन करता है एवं तत्संबंधी कोई भी सूचना प्राप्त होती है तो तत्काल कार्रवाही की जायेगी। कार्यवाही करते समय की गई कार्रवाही की स्पष्ट वीडियोग्राफी विथ कामेंट्री कराना सुनिश्चित कराया जायें। उक्त हालात के चलते शनि अमावस्या पर सामूहिक भोज का आयोजन कराने भी प्रशासन की नजर से बचकर भंडारे की तैयारी की चर्चा करते नजर आए।