26 जनवरी को ध्वजारोहण के बाद नही उतारा ध्वज

दमोह। जिले के हिंडोरिया थाना अंतर्गत ग्राम पटोहा के शासकीय प्रायमरी स्कूल में 26 जनवरी को प्रातः बेला में हुए ध्वजारोहण के बाद शिक्षक स्कूल बंद करके चले गए और शाम को भी ध्वज उतारने नहीं आए। जिससे रात भर राष्ट्रीय ध्वज हवा में लहराता रहा। रविवार सुबह ग्रामीणों ने इस घटनाक्रम की फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दी।

जिसके बाद मामला मीडिया के संज्ञान में आया और पुलिस प्रशासन तक भी सूचना पहुची। बाद में रविवार को पंचायत सचिव के निर्देश पर एक ग्रामीण में स्कूल परिसर में लहरा रहे तिरंगा को उतार कर मामले का पटाक्षेप का प्रयास किया लेकिन तब तक घटना की फोटो वीडियो सोशल मीडिया पर सभी जगह वायरल हो चुकी थी।

जानकारी लगने पर हिंडोरिया थाना प्रभारी टी आई विजय मिश्रा और बिलाई चौकी प्रभारी भी पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों से जानकारी ली और पंचायत सचिव से प्रतिवेदन बनाकर भेजने को कहा है। मामला हिंडोरिया पुलिस की जांच में है और प्रथम दृष्टया राष्ट्र ध्वज के अपमान का मामला बनता है।

यह गलती जानबूझकर हुई या फिर लापरवाही में और इसका जिम्मेदार कौन है ? यह बात पुलिस जांच में स्पष्ट हो जाएगी। लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर शिक्षा के मंदिर में ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रीय पर्व जैसे मौके पर या घोर लापरवाही क्यों की गई और मामले के लिए जिम्मेदार आखिर क्या साबित करना चाहते हैं यह बात समझ के परे है।

श्यामबिहारी द्विवेदी की रिपोर्ट