भाजपा की संभागीय बैठक के बाहर हुआ प्रदर्शन-

छतरपुर। एससी/ एसटी एक्ट में संशोधन का बिल संसद में पारित होने के बाद भाजपा सरकार व इस बिल के खिलाफ सड़क पर शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन पूरे बुंदेलखंड में जबरदस्त असर छोड़ता भाजपा नेताओं के लिए मुसीबत बन गया है। वही विरोध प्रदर्शन को देखते हुए कुछ भाजपा नेताओं के स्वर भी अब बदले हुए नजर आने लगे है।

 

गुरुवार को इस मुद्दे को लेकर मध्यप्रदेश में शांतिपूर्ण ढंग से रहे जबरदस्त बन्द ने आम जनता के आक्रोश को भी उजागर कर दिया है। इधर छतरपुर में जिला भाजपा कार्यालय में आयोजित पार्टी की संभागीय की बैठक के दौरान बाहर SC/ ST एक्ट के नए प्रारूप के विरोध में नारेबाजी के साथ देर तक विरोध प्रदर्शन चलता रहा।

इस दौरान दमोह सांसद प्रहलाद पटेल के अलावा पार्टी के अनेक वरिष्ठ नेता पदाधिकारी विधायक मौजूद थे। वहीं मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया भी इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे।इस दौरान देर तक चली नारेबाजी और प्रदर्शन से के बीच प्रदर्शनकारियों को भाजपा कार्यालय के बाहर रोकने में पुलिस को जमकर मशक्कत करना पड़ी।

आपको बता दें कि इसके पूर्व बुधवार को टीकमगढ में भाजपा के जिला स्तरीय पालक सम्मेलन के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री और दमोह सांसद प्रहलाद पटेल की मौजूदगी में आरक्षण विरोधी क्रांति दल और सपाक्स द्वारा काले झंडे लहरा कर आरक्षण के वर्तमान प्रावधान और एससी एसटी एक्ट को लेकर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया गया था।

 टीकमगढ के बाद छतरपुर मैं भी सामान्य वर्ग के आक्रोश और विरोध प्रदर्शन की पुनरावृत्ति तथा पूरे प्रदेश में भारत बंद को शांतिपूर्ण ढंग से मिले जनता के जबरदस्त समर्थन ने भाजपा नेताओं की नींद उड़ा कर रख दी है। भाजपा के कुछ नेताओं के स्वर बदले हुए भी नज़र आने लगे हैं। हालांकि प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया अभी भी इस मामले में चुप्पी साधे कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

छतरपुर में भाजपा सांसद विधायकों के सुर बदले-

 छतरपुर में एससी एसटी एक्ट संशोधन बिल को लेकर युवाओं के विरोध प्रदर्शन के बाद भाजपा नेताओं सांसद और विधायको के बड़े बयान सामने आए है। दमोह सांसद प्रहलाद पटेल ने तो यहां तक कह दिया है कि जरूरत पड़ेगी तो बिल में संशोधन करेंगे। परंतु सवाल यही है कि श्री पटेल के कहने भर से संशोधन हो जाएगा।

इधर मलहरा से भाजपा विधायक रेखा यादव का कहना था कि हम आपके साथ है। एक्ट में जो हुआ वह बहुत गलत हुआ, वह इसमें पुनः संसोधन की मांग करेगी। जबकि विजावर विधायक पुष्पेंद्रनाथ पाठक बोले संसोधन बिल में क्या होना है यह कोर्ट तय करेगा। इधर वित्तमंत्री जयंत मलैया मामले से कन्नी काटते हुए बोले नो कमेंट्स..

 छतरपुर से मनोज सोनी के साथ राजेंद्र अटल की रिपोर्ट