कोंडा कला के हार मैं खड़ी गेंहू की फसल मैं भड़की आग

दमोह, सिंग्रामपुर। फसल कटाई का सीजन शुरू होते ही जिले के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में खेतों में खड़ी फसल में आग भड़कने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। अधिकांश मामलों में खेतों के ऊपर से निकले बिजली के लूज तारों से हवा में होने वाले शॉर्ट सर्किट की वजह से नीचे गिरने वाली चिंगारीयो की बजह से आग भड़कने के हालात सामने आए है।

ताजा मामला जिला मुख्यालय से करीब 50 किलोमीटर दूर जबेरा जनपद अंतर्गत कोंडाकला हार में सामने आया है। जहां बुधवार को सुबह करीब 10:00 बजे भड़की आग से 4 किसानों की मेहनत रूपी फसल जलकर खाक हो गई। किसानों ने करीब 4 एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल पूरी तरह से जल जाने की बात कही है वही पटवारी सहित राजस्व अमला करीब 2 एकड़ में फसल नुकसान का आकलन करता नजर आ रहा है।

पीड़ित किसानों का कहना है कि इस वर्ष मौसम के विपरीत हालातों की वजह से वैसे भी गेहूं की फसल पककर तैयार होने में अधिक समय लग रहा था। वहीं जब फसल पककर कटाई के लिए कंप्लीट हो चुकी थी ऐसे में अचानक बुधवार सुबह खेतों के ऊपर से निकली विद्युत लाइन में बने फाल्ट से गिरी चिंगारी ने नीचे खड़ी गेहूं की फसल को स्वाहा कर दिया। यदि समय रहते ग्रामीणों ने आग पर काबू नहीं पाया होता तो यह आग विकराल रूप लेकर कई एकड़ में खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा सकती थी।

अचानक भड़की भीषण आग की विक्रांता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि करीब 1 घंटे तक दूर दूर तक आग की लपटें विकराल रूप धारण करते हुए ग्रामीणों के बीच दहशत का कारण बनी रहे वही जब आग पर काबू पाया गया तब तक राजकुमार चौधरी, बिहारी चौधरी, मुलायम धनगर, घनश्याम विश्वकर्मा के खेत मे खड़ी गेंहू की फसल आग से झुलस कर जल चुकी थी। मामले में नायब तहसीलदार रोहित सिंह ने बताया कि पटवारी द्वारा आंख से फसल नुकसान की पंचनामा कार्रवाई करते हुए प्रकरण तैयार कराकर कार्यवाही की जा रही है।

सिग्रामपुर से निवेश जैन की रिपोर्ट