कार्यवाही में शामिल पुलिसकर्मी से धक्का मुक्की- दमोह जिले के तेंदूखेड़ा में शुक्रवार को 5 घंटे से अधिक तक पाटन जबलपुर मार्ग को बाधित करने वाली भीड़ के खिलाफ तेंदूखेड़ा थाने में मामला दर्ज किया गया है। चक्का जाम करने वाले लोगों द्वारा  पुलिस कर्मियों से मारपीट किए जाने के वीडियो और फोटो सामने आने के बाद पुलिस से मारपीट और शासकीय कार्य में बाधा का अपराध क्रमांक 151/18 पंजीबद्ध किया गया है। जांच के बाद पता लगाएगी की भीड़ को चकाजाम के लिए उकसाने वालों में कौन-कौन लोग मुख्य तौर पर शामिल थे।
 तेंदूखेड़ा में शुक्रवार सुबह भीड़ द्वारा चका जाम किए जाने की घटना के पूर्व तेंदूखेड़ा हाई स्कूल के समीप करीब पुलिस वालो के साथ धक्का-मुक्की करते हुए धमकाने का वीडियो भी सामने आया है। इस वीडियो में कुछ महिलाओं सहित करीब दो दर्जन मजदूर धमकाकर पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते नजर आ रहे हैं। इधर एक अन्य वीडियो में दौड़कर भागते हुए पुलिस कर्मी द्वारा भीड़ से बचने का प्रयास किया जा रहा है। इस चक्कर में पुलिसकर्मी नाले के पानी में से दूसरी ओर दौड़ कर भागते हुए खुद को बचाता नजर आ रहा है। इस तरह चकाजाम के पूर्व पुलिस के साथ मारपीट गुंडागर्दी की बात इन वीडियो फुटेज स्पष्ट हो रही है।
प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है की पुलिसकर्मीयो को खदेड़ने के बाद मजदूरों की भीड़ द्वारा पुलिस पर दबाव बनाने के लिए हाई स्कूल के सामने जाम लगाकर जबलपुर मार्ग पर आवागमन अवरुद्ध किया गया था। इस दौरान इन्होंने किसी की भी नहीं सुनी। वही बाद में तारादेही तिराहे पर जाकर जाम लगाया गया। इस पूरे घटनाक्रम के पीछे आरटीओ व पुलिस द्वारा पाटन मार्ग पर मजदूर महिलाओं से भरी पिकअप गाड़ी को पकड़ने तथा चालानी कार्यवाही किया जाना माना जा रहा है। इस कार्यवाही में उक्त पुलिस कर्मीयो के भी होने की वजह से मजदूरों के कोप का शिकार बनना पड़ा। तथा वर्दी पहने होने के बाद भी खुद को बचाने के लिए दौड़ लगाना पड़ी। तेंदूखेड़ा थाने में हालांकि फिलहाल अज्ञात आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है जिस में उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही पुलिस आरोपियों की शिनाख्त करके उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचाने का काम करेगी।
 
इस घटनाक्रम को लेकर एडिशनल SP एम एल चौरसिया का कहना है कि फिलहाल अज्ञात लोगों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज किया गया है। वही पुलिस द्वारा पूरे घटनाक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग देखी जा रही है। जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट